top of page

योग के सात आध्यात्मिक नियम



  1. शुद्ध संभावना का नियम: इस नियम में हमें यह समझाया गया है कि हमारे अंदर अनगिनत संभावनाएँ हैं। यह एक खजाने की तरह है। इससे जुड़ने के लिए हमें ध्यान करना चाहिए और प्रकृति में समय बिताना चाहिए।

  2. दान और प्राप्ति का नियम: जब हम दूसरों को प्रेम, दया या सहायता देते हैं, हमें भी सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। यह अच्छी ऊर्जा की एक चक्र की तरह है।

  3. कर्म का नियम (कारण और प्रभाव): इस नियम में बताया गया है कि हमारे द्वारा की गई हर क्रिया के परिणाम होते हैं। अच्छा काम करने पर अच्छा ही होता है।

  4. न्यूनतम प्रयास का नियम: इस नियम में हमें बताया गया है कि हमें चीजों के खिलाफ नहीं लड़ना चाहिए। हमें अपने कार्य में शांति और प्रेम लाना चाहिए।

  5. अभिप्रेत और इच्छा का नियम: जब हम किसी चीज को सच्चे मन से चाहते हैं, तो ब्रह्मांड हमें उसे प्राप्त करने में मदद करता है।

  6. असंलग्नता का नियम: हमें चिंता नहीं करनी चाहिए कि समाप्ति कैसी होगी। हमें अपनी पूरी कोशिश करनी चाहिए बिना परिणाम की चिंता किए।

  7. धर्म का नियम (जीवन का उद्देश्य): हर व्यक्ति के पास कुछ विशेष प्रतिभा होती है। जब आप इस प्रतिभा का उपयोग दूसरों की मदद के लिए करते हैं, तो आप अंदर से खुश महसूस करते हैं।

33 views0 comments
bottom of page